WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Agniveer Recruitment New Rules 2024 सिलेक्शन अब और भी मुश्किल, टाइपिंग टेस्ट अनिवार्य

Agniveer Recruitment New Rules 2024: अग्निपथ योजना के तहत एक अभूतपूर्व कदम में, भारतीय सेना ने अग्निवीर भर्ती प्रक्रिया में महत्वपूर्ण बदलाव किए हैं। एक महत्वपूर्ण बदलाव अग्निवीर क्लर्क और स्टोरकीपर श्रेणियों के पदों के लिए टाइपिंग टेस्ट को अनिवार्य करना है। यह नया नियम अग्निवीर भर्ती सत्र 2024-25 से लागू होगा।

Agniveer Recruitment New Rules 2024

प्रमुख बिंदु

  • 2024 के लिए अग्निवीर भर्ती में टाइपिंग टेस्ट अनिवार्य कर दिया गया है।
  • यह परीक्षा अंग्रेजी और हिंदी दोनों भाषाओं में आयोजित की जाएगी।
  • परीक्षण के लिए न्यूनतम टाइपिंग गति 35 शब्द प्रति मिनट निर्धारित है।
  • यह नियम अग्निवीर भर्ती सत्र 2024-25 से लागू होगा.

अग्निवीर भर्ती का विकास

पहले, अग्निवीर भर्ती पूरी तरह से लिखित परीक्षा और शारीरिक फिटनेस परीक्षण (पीएफटी) पर निर्भर करती थी। हालाँकि, प्रतिमान बदल गया है, और अब, मौजूदा आकलन के अलावा, अग्निवीरों को अग्निवीर सैन्य प्रशिक्षण (एएमटी) के दौरान कंप्यूटर प्रशिक्षण से गुजरना होगा।

टाइपिंग टेस्ट के लिए विशिष्ट मानक अभी तक निर्धारित नहीं किए गए हैं, लेकिन यह अनुमान लगाया गया है कि अंग्रेजी में 35 शब्द प्रति मिनट और हिंदी में 30 शब्द प्रति मिनट की टाइपिंग गति अनिवार्य हो सकती है।

अपरिवर्तित भर्ती प्रक्रिया

टाइपिंग टेस्ट शुरू करने के अलावा, अग्निवीर भर्ती प्रक्रिया में कोई अन्य बदलाव नहीं किया गया है। 17.5 से 21 वर्ष की आयु के उम्मीदवार अभी भी अग्निवीर भर्ती के लिए पात्र हैं। इस प्रक्रिया में लिखित परीक्षा, शारीरिक दक्षता परीक्षण, चिकित्सा परीक्षण, साक्षात्कार और मनोवैज्ञानिक परीक्षण शामिल हैं।

टाइपिंग टेस्ट का उद्देश्य

टाइपिंग टेस्ट का प्राथमिक उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि क्लर्क और स्टोरकीपर पदों पर अग्निवीरों के पास आवश्यक टाइपिंग कौशल हों। इन भूमिकाओं में तैनात लोगों को दस्तावेज़ टाइपिंग, पत्राचार और कार्यालय से संबंधित अन्य कार्यों को संभालने की आवश्यकता होगी।

इसके अतिरिक्त, टाइपिंग टेस्ट का उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि अग्निवीर कंप्यूटर का उपयोग करने में कुशल हैं। आज के सैन्य अभियानों में, विभिन्न कार्यों में कंप्यूटर का उपयोग अभिन्न है, जिसके लिए अग्निवीरों में दक्षता की आवश्यकता होती है।

टाइपिंग टेस्ट का प्रभाव

टाइपिंग टेस्ट का समावेश अग्निवीर भर्ती प्रक्रिया में जटिलता की एक अतिरिक्त परत जोड़ता है। अब, अग्निवीरों को न केवल लिखित परीक्षा, शारीरिक फिटनेस परीक्षण, चिकित्सा परीक्षा, साक्षात्कार और मनोवैज्ञानिक परीक्षण पास करना होगा बल्कि टाइपिंग टेस्ट भी सफलतापूर्वक पार करना होगा।

यह नई आवश्यकता अग्निवीरों पर कंप्यूटर टाइपिंग कौशल में अधिक प्रयास करने की अधिक मांग रखती है। टाइपिंग टेस्ट में उत्कृष्टता प्राप्त करने के लिए कठोर अभ्यास आवश्यक होगा।

नवीनतम नौकरी के अवसरों का अन्वेषण करें: Click Here

2024 के लिए अग्निवीर भर्ती प्रक्रिया में क्या महत्वपूर्ण बदलाव किए गए हैं?

2024 में, अग्निपथ योजना के तहत, भारतीय सेना ने अग्निवीर क्लर्क और स्टोरकीपर पदों के लिए टाइपिंग टेस्ट अनिवार्य करके एक महत्वपूर्ण बदलाव लागू किया है। इसके अतिरिक्त, अग्निवीर सैन्य प्रशिक्षण (एएमटी) के दौरान कंप्यूटर प्रशिक्षण शुरू किया गया है।

समय के साथ अग्निवीर भर्ती प्रक्रिया कैसे विकसित हुई है?

ऐतिहासिक रूप से, अग्निवीर भर्ती पूरी तरह से लिखित परीक्षा और शारीरिक फिटनेस परीक्षण (पीएफटी) पर निर्भर करती थी। हालाँकि, वर्तमान प्रतिमान बदलाव में एएमटी चरण के दौरान टाइपिंग टेस्ट और कंप्यूटर प्रशिक्षण का समावेश शामिल है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Leave a Comment