Indira Gandhi Matritva Poshan Yojana 2023 राजस्थान में द्वितीय संतान के लिए 6,000 रुपये की आर्थिक सहायता

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

गर्भवती महिलाओं, स्तनपान कराने वाली माताओं और तीन साल तक के बच्चों के स्वास्थ्य और पोषण को बढ़ाने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम उठाते हुए, राजस्थान सरकार ने Indira Gandhi Matritva Poshan Yojana 2023 शुरू की है। इस योजना का उद्देश्य जन्म के समय कम वजन और प्रसव के दौरान कमजोरी से निपटना है। , राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 के प्रावधानों के अनुरूप। यह सामाजिक और व्यवहारिक परिवर्तन संचार रणनीतियों को लागू करके ‘सुपोषित राजस्थान विजन 2022’ को पूरा करने का भी प्रयास करता है।

Indira Gandhi Matritva Poshan Yojana 2023

The Inception of Indira Gandhi Matritva Poshan Yojana 2023

इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना 19 नवंबर, 2020 को शुरू हुई, जब मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए बजट घोषणा में इसे पांच आदिवासी जिलों Pratapgarh, Dungarpur, Banswara, Udaipur, और बारां में पेश किया। 1 अप्रैल 2022 से इस योजना का विस्तार राजस्थान के सभी जिलों तक कर दिया गया है। इस योजना के तहत राजस्थान में लगभग 3.5 लाख गर्भवती महिलाएं इसका लाभ उठा सकती हैं। यह योजना पात्र लाभार्थियों को उनके दूसरे बच्चे के जन्म पर पांच किस्तों में ₹6,000 का नकद प्रोत्साहन प्रदान करती है।

The Objective of Indira Gandhi Matritva Poshan Yojana 2023

Rajasthan Indira Gandhi Matritva Yojana का प्राथमिक उद्देश्य गर्भवती महिलाओं, स्तनपान कराने वाली माताओं और तीन साल तक के बच्चों के स्वास्थ्य और पोषण में सुधार करना है। इसका उद्देश्य विशेष रूप से जन्म के समय कम वजन और बच्चे के जन्म के दौरान असुरक्षा की घटनाओं को कम करना है। यह योजना राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 के प्रावधानों के अनुरूप भी है और ‘Suposhit Rajasthan Vision 2022’ को पूरा करने के लिए सामाजिक और व्यवहारिक परिवर्तन संचार रणनीतियों को अपनाने की आवश्यकता है।

Implementation and Coverage

प्रारंभ में पांच जिलों (Pratapgarh, Dungarpur, Banswara, Udaipur, and Baran) में शुरू की गई, इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना 2023 अब राजस्थान के सभी जिलों को कवर करती है।

Benefits of Indira Gandhi Matritva Poshan Yojana 2023

इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना 2023 के तहत, लाभार्थी अपने दूसरे बच्चे के जन्म पर ₹6,000 के नकद प्रोत्साहन के हकदार हैं। यह राशि पांच किस्तों में प्रदान की जाती है और सीधे लाभार्थी के बैंक खाते में जमा की जाती है।

Here’s a breakdown of the incentive:

  1. First Installment: ₹1,000 – अंतिम मासिक धर्म के 120 दिनों के भीतर पहली प्रसवपूर्व जांच (एएनसी) और पंजीकरण कराने पर उपलब्ध है।
  2. Second Installment: ₹1,000 – गर्भावस्था के पहले छह महीनों के भीतर न्यूनतम दो एएनसी जांच पूरी करने के बाद उपलब्ध।
  3. Third Installment: ₹1,000 – बच्चे के संस्थागत प्रसव के लिए प्रदान किया जाता है।
  4. Fourth Installment: ₹2,000 – बच्चे को बीसीजी, ओपीवी, डीपीटी, और हेपेटाइटिस-बी या उनके समकक्ष सहित 3.5 महीने (105 दिन) की उम्र तक सभी नियमित टीकाकरण प्राप्त होने के बाद उपलब्ध है।
  5. Fifth Installment: ₹1,000 – दूसरे बच्चे के जन्म के तीन महीने के भीतर नसबंदी या कॉपर-टी उपकरण लगवाने के माध्यम से स्थायी परिवार नियोजन अपनाने के बाद दिया जाता है।

Applying for Indira Gandhi Matritva Poshan Yojana 2023

Indira Gandhi Matritva Poshan Yojana एक कागज रहित योजना है, जिसमें आवेदन और चयन प्रक्रिया एकीकृत बाल विकास सेवा (आईसीडीएस) राज पोषण पोर्टल के माध्यम से ऑनलाइन आयोजित की जाती है। इस योजना का लाभ उठाने के लिए महिलाओं को अपनी जन आधार आईडी और मोबाइल नंबर के साथ पीसीटीएस पोर्टल पर पंजीकरण कराना होगा। आईसीडीएस राज पोषण पोर्टल पीसीटीएस आईडी के साथ एकीकृत है, जो पंजीकृत महिलाओं को एएनसी जांच, बाल टीकाकरण और परिवार नियोजन जैसे विभिन्न पहलुओं पर जानकारी प्रदान करने की अनुमति देता है।

योजना की शर्तें पूरी होने पर लाभार्थी की जानकारी स्वतः ही राज पोषण पोर्टल पर दर्ज हो जाती है। फिर नकद प्रोत्साहन लाभार्थी के जन आधार से जुड़े बैंक खाते में जमा किया जाता है।

Required Documents for Indira Gandhi Matritva Poshan Yojana 2023

इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना 2023 के लिए आवेदन करने के लिए आपको निम्नलिखित दस्तावेजों की आवश्यकता होगी:

  • A copy of the Maternity Card photo
  • Jan Aadhaar Card
  • Aadhaar Card
  • Copy of the bank passbook
  • Passport-sized photo
  • Mobile number

Important Links

Indira Gandhi Matritva Poshan Yojana 2023Official Website

FAQs

Indira Gandhi Matritva Poshan Yojana 2023 के लिए कौन पात्र है?

इस योजना की पात्रता में गर्भवती महिलाएं और स्तनपान कराने वाली माताएं शामिल हैं जो कुछ मानदंडों को पूरा करती हैं, जैसा कि लेख में बताया गया है।

Indira Gandhi Matritva Poshan Yojana 2023 का मुख्य उद्देश्य क्या है?

प्राथमिक उद्देश्य गर्भवती महिलाओं, स्तनपान कराने वाली माताओं और बच्चों के स्वास्थ्य और पोषण में सुधार करना है ताकि जन्म के समय कम वजन और प्रसव के दौरान कमजोरी से निपटा जा सके।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Leave a Comment